ऑनलाइन शापिंग कंपनियों के ग्राहकों को मिला एसटीएफ का साथ

लखनऊ। यूपी की स्पेशल टॉस्क फोर्स देश की प्रमुख 13 इंश्योरेंस और शापिंग कंपनियों के 2 लाख से अधिक ग्राहकों को मैसेज भेज कर पूछेगी कि क्या उनके साथ किसी ने धोखाधड़ी की है। एसटीएफ इस बात की भी जांच करेगी कि इन ग्राहकों के डाटा किस तरह से फ्रॉड करने वालों तक पहुंचा है। उप्र एसटीएफ ने रिलायंस, फ्यूचर, एक्साईड, बिरला सन लाइफ, एचडीएफसी लाइफ, पीएनबी मेट लाइफ, मैक्स लाइफ, बजाज आलियॉंज लाइफ, एचडीएफसी अर्गो, पेटीएम आनलाइन शॉपिग, शापक्लूज, फ्लिपकार्ट, इंडिया शापिंग माल से सम्बन्धित ग्राहकों का डॉटा चोरी कर फ्रॉड करने वाले 105 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया हैं। यह गरफ्तारी गौतमबुद्धनगर में की गई है। इनमें से 95 को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया जबकि धंधे में लगे 10 संचालकों को हिरासत में लिया है। एसटीएफ ने यह कार्रवाई एचडीएफसी एगोर््र जनरल इन्श्योरेंस के असिस्टेंट मैनेजर अभिषेक सिंह द्विवेदी ने ग्राहकों के साथ फोनकॉल के जरिये ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी करने की शिकायत की है। धंधे में लगे लोक विभिन्न कम्पनियों के नाम पर फर्जी एकाउन्ट खोलते थे, इसके साथ फर्जी तरीके से मोबाइल सिम प्राप्त कर कस्टमर को इन्श्योरेंस के अधिक बोनस देने एवं ई-कॉमर्स के माध्यम से मोबाइल खरीदने पर 50 से 70 प्रतिशत का डिस्काउन्ट का लालच दिया जाता है। इस गिरोह के सदस्यों द्वारा ई-कॉमर्स कम्पनियों पेटीएम, फ्लिपकार्ट, मिन्त्रा, स्नैपडील आदि के नामों का प्रलोभन देकर कस्टमर को अपने जाल में फॅसाकर पैसा ऐेंठते थे। गिरोह के कई कॉल सेन्टर चलाये जा रहें थे। इन कॉल सेन्टरों के मालिक एवं डेटा वेन्डर, कंपनिया का डेटा चुराकर बेचने का काम करते थे। इस गिरोह का जाल दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा, एनसीआर क्षेत्र में फैला हुआ है।

Leave a Comment