तीसरे चरण में कई दिग्गजों के लिए है चुनौती

smart fonलखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव में पहले और दूसरे दौर का मतदान खत्म हो चुका है। अब तीसरे चरण में 12 जिलों के 69 सीटों के लिए 19 फरवरी को मतदान होगा। अब सभी दिग्गजों की नजरें तीसरे चरण के मतदान पर टिकी हैं। इस चरण में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, अखिलेश यादव, मुलायम सिंह यादव, शिवपाल सिंह यादव, डिंपल यादव, अरविंद सिंह गोप, नरेश अग्रवाल जैसे दिग्गज नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर है। बीजेपी, एसपी और बीएसपी समेत सभी दलों के बड़े नेता, वोटरों का वोट हासिल करने के लिए प्रचार में जुटे हैं।
तीसरे चरण के चुनाव में जिन विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होना है उनमें फर्रुखाबाद, हरदोई, कन्नौज, मैनपुरी, इटावा, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर नगर, उन्नाव, लखनऊ, बाराबंकी और सीतापुर जिले शामिल हैं।
इनमें इटावा, कन्नौज, मैनपुरी, फर्रुखाबाद तथा बाराबंकी जिलों को समाजवादी पार्टी का गढ़ माना जाता है। यहां से अखिलेश यादव, मुलायम सिंह यादव, डिंपल यादव, मंत्री अरविंद सिंह गोप की प्रतिष्ठा दांव पर है।
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह लखनऊ से सांसद है। यहां पर रविवार को वोट डाले जाएंगे। लखनऊ पूर्वी से पूर्व सांसद लालजी टंडल के पुत्र और मौजूदा विधायक आशुतोष टंडन उर्फ गोपालजी मैदान में हैं। वहीं कैंट से बीजेपी से रीता बहुगुणा जोशी चुनाव लड़ रही हैं। यह दोनों सीटें राजनाथ सिंह की प्रतिष्ठा से जुड़ी हुई हैं।
राजधानी के कैंट से मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव सपा से चुनाव लड़ रही हैं। मुलायम ने अपनी बहू के प्रचार के दौरान कहा था कि प्रतिष्ठा का सवाल है मेरी बहू को जीता देना। यह सीट यादव परिवार की प्रतिष्ठा से जुड़ गई। यह सीट प्रदेश के वीआईपी सीटों में से एक है। वहीं सरोजनीनगर से बदायूं के सांसद धमेंद्र यादव के छोटे भाई अनुराग यादव सपा से चुनाव लड़ रहे हैं। यह सीट भी यादव परिवार की प्रतिष्ठा से जुड़ी है।
कैंट की सीट के साथ ही अखिलेश यादव की प्रतिष्ठा से इटावा, मैनपुरी, कन्नौज की सीटें भी जुड़ी हैं। इटावा और मैनपुरी सपा का गढ़ है तो वहीं कन्नौज से अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव सांसद हैं। इस लिए इन जिलों की सीटें अखिलेश डिंपल और मुलायम सिंह के लिए प्रतिष्ठा से जुड़ी हैं।
शिवपाल यादव इटावा के जसवंतनगर से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। यह सीट सपा की प्रतिष्ठा से जुड़ा है। शिवपाल सिंह यादव अपनी जीत के लिए वोटरों को लुभाने में कोई कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। वहीं मुलायम सिंह यादव भी अपने छोटे भाई के लिए प्रचार कर वोट मांग चुके हैं। यह सीट शिवपाल के साथ ही मुलायम की प्रतिष्ठा से भी जुड़ गई है।
सपा नेता व राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल की भी प्रतिष्ठा तीसरे चरण के चुनाव में दांव पर लगी है। हरदोई से इनके बेटे व मंत्री नीतिन अग्रवाल सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं।
मायावती के खिलाफ मोर्चा खोलने वाली बीजेपी महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष स्वाति सिंह बीजेपी के पूर्व नेता दयाशंकर सिंह की पत्नी हैं। वह बीजेपी के टिकट पर सरोजनीनगर से प्रत्याशी हैं। यह सीट भाजपा की प्रतिष्ठा से जुड़ी है।

Leave a Comment