बर्थ डे पर मुलायम हुए सख्त: अखिलेश को खरी-खरी

 

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने अपने 79वें जन्मदिन पर जहां बेटे अखिलेश को इशारों-इशारों में जमकर सुनाया, वहीं पार्टी कार्यकर्ता व युवा नेताओं को विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त पर खूब लताड़ भी लगाई। उन्होंने कहा कि इतना बुरा हाल तो अयोध्या में कारसेवकों पर गोली चलवाने के आदेश के बाद भी नहीं हुआ था। मुलायम सिंह ने कहा पांच साल हमारी सरकार के रहने के बाद भी हमें 47 सीटें आए तो ये एसपी के युवाओं के लिए शर्म की बात है। जन्मदिन के मौके पर मुलायम घोषणा की कि वह अपने बेटे और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को आशीर्वाद देते हैं और आगे भी देते रहेंगे। उन्होंने कहा, वह बेटे को आशीर्वाद देते हैं तो चर्चा हो जाती है। अखिलेश मेरे लिए पहले मेरा बेटा है और बाद में मुलायम सिंह ने कहा, अखिलेश यादव कुछ और कहते हैं और मैं कुछ और कहता हूं। दोनों का झगड़ा आज तक चल रहा है। प्रदेश में सिर्फ 47 सीटें मिलीं, पार्टी की हार का जिम्मेदार कौन है? मुलायम ने कहा कि वह पार्टी को बर्बाद होते नहीं देख सकते हैं। उन्होंने अकेले दम पर पार्टी खड़ी की है और इसमें किसी ने उनकी मदद नहीं की। लखनऊ में एसपी पार्टी कार्यालय में अपने जन्मदिन की उपलक्ष में आयोजित कार्यक्रम में मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव को अपने हाथों से जन्मदिन का केक खिलाया। उन्होंने अपने भाषण में अखिलेश की तारीफ भी की और बातों-बातों में शिकायत भी की। उन्होंने कहा कि जन्मदिन पर वह किसी को उल्टा सीधा नहीं कहेंगे।

Leave a Comment