राहुल की ललकार: मोदी ने किया अच्छे दिन का झूठा वादा

नयी दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार के शासनकाल में भ्रष्टाचार,आर्थिक विफलता, अक्षमता और सामाजिक भेदभाव चरम पर पहुंच गया है और उन्होंने पार्टी सांसदों से लोगों को विकल्प मुहैया कराने को कहा।गांधी ने संसद भवन में कांग्रेस संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि सत्ता व्यवस्था के प्रति आक्रोश बढ़ रहा है और पार्टी सांसदों को मोदी के ‘‘अच्छे दिन’’ के झूठे वादों का विकल्प लोगों के समक्ष पेश करने के लिए कड़ी मेहनत करनी चाहिए।उन्होंने कहा कि भारत की जनता मोदी सरकार को हटाने के लिए और उसे ऐसी सरकार से बदलने के लिए कांग्रेस और उसकी गठबंधन पार्टियों की ओर उम्मीद से देख रहीं है जो उनकी बात सुनें, उनकी समस्याओं को समझे और देश में गरीबी, बेरोजगारी और असमानता को समाप्त करने के समाधान तलाशे। उन्होंने कहा, ‘‘आज हम सब के ऊपर लोकतांत्रिक ताकते एवं सामाजिक न्याय बनाम निकुंशता तथा सामाजिक पदक्रम के बीच ऐतिहासक संघर्ष को जीतने की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है।’’ राहुल गांधी ने कांग्रेस सांसदों से कहा, ‘‘हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि घृणा, विभाजनकारी और हिंसा फैलाने वाली ताकतें जो कि संविधान को कुचल रहीं हैं उन्हें दोबारा सत्ता में आने से रोका जाए।’’ ‘‘ हम आज यहां ऐसे समय में बैठक कर रहे हैं जब नरेन्द्र मोदी सरकार के तहत भारत में शासन का संकट है – भ्रष्टाचार है, पूर्ण आर्थिक विफलता है, अक्षमता है और सामाजिक भेदभाव -ये सब अपने चरम पर है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘वर्तमान सत्ता व्यवस्था के प्रति आक्रोश की लहर बढ़ रही है जो कि हम सब से भारत की जनता को वो विकल्प मुहैया कराने के लिए कड़ी मेहनत करने की मांग कर रही है जिसके वे हकदार हैं- मोदी जी के अच्छे दिन के झूठे वादे का विकल्प।’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने पार्टी के सदस्यों से देश के किसानों और युवाओं की आंखों में उम्मीद की किरण जगाने,आवश्यक वस्तुओं के बढ़ते मूल्य और घरेलू ऋण की दोहरी मार झेल रहे आम परिवारों को राहत पहुंचाने,महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने और दलितों की रक्षा करने को कहा।कांग्रेस प्रमुख ने मोदी के 2014 के उस बयान को याद किया जिसमें उन्होंने कहा था कि स्वतंत्रता के बाद भारत 70 वर्ष तक ‘पैसेंजर ट्रेन’ बना रहा और उनके शासन में वह चमचमाती हुई ‘जादुई ट्रेन’ बन जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी ने कहा था मुझे अपने वोट दीजिए और मैं आपको आपके जीनव की सबसे अच्छी और यादगार यात्रा पर ले चलूंगा। दुख की बात है कि मोदी के चार साल के कार्यकाल में भारत एक ऐसी रेलगाड़ी नजर आता है जिसे एक निरंकुश, अक्षम और अहंकारी चालक विध्वंस के रास्ते पर ले जा रहा है और जिसे इस बात की जरा भी परवाह नहीं है कि उन यात्रियों के साथ क्या होगा जिनकी जिम्मेदारी उनके ऊपर है।’’ उन्होंने कहा कि भारत की जनता बदलाव की मांग कर रही है और वह मोदी की ऐसी जादुई ट्रेन के झांसे में नहीं आएगी जो दुर्घटना की ओर बढ़ रही है।उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जनता की आवाज बनने वाले संस्थानों का निर्माण किया जिनके दम पर राष्ट्र निर्माण हुआ।राहुल गांधी ने कहा, ‘‘ जब से आरएसएस और भाजपा सत्ता में आई हैं हमने अपने प्रत्येक संस्थान पर एक के बाद एक हमले देखे हैं। आधुनिक भारत में ये संस्थांए लोकतंत्र का मंदिर कहलाती थीं और आज आरएसएस उस प्रत्येक संस्थान को ध्वस्त करने पर तुली हुई है। उनके लोग प्रत्येक संस्थान में दखल दे रहे हैं और संस्थानों का मूल स्वरूप बदल रहा है।

Leave a Comment