राहुल बोले: चौकीदार ही चोरी में शामिल

अमेठी। दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सुर प्रधानमंत्री के प्रति और तल्ख हो गए। राहुल ने मोदी सरकार पर राफेल का 1600 करोड़ रुपये का टेंडर अंबानी को देने के बहाने देश के युवाओं व एचएएल से रोजगार छीनने का आरोप मढ़ा। इसके पहले राहुल जिला सतर्कता विकास व समन्वय समिति की बैठक में शामिल हुए। वहां जाते समय प्रदेश के राज्यमंत्री सुरेश पासी के सामने ही भाजपा नेताओं ने राहुल गांधी विरोध किया। भाजपा-कांग्रेस नेताओं के बीच झड़प हुई, जिसे प्रशासन ने हल्का बल प्रयोग कर शांत कराया।
कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित बैठक से निकलकर मीडिया से मुखातिब राहुल ने राफेल डील को लेकर सरकार पर अपना आरोप दोहराया। राहुल ने कहा कि यूपीए ने राफेल के बहाने एचएएल और देश के युवाओं को रोजगार देने की योजना तैयार की थी। हमने 526 करोड़ का सौदा किया था। जिसे प्रधानमंत्री ने 1600 करोड़ रुपये में करके एक निजी कंपनी को दे दिया। इस तरह से एचएएल और देश के युवाओं के साथ धोखा किया गया है। उन्होंने कहा कि जब डील के बाबत मैंने प्रधानमंत्री व रक्षामंत्री से पूछा तो उन्होंने कहा डील का दाम सार्वजनिक नहीं कर सकते। जबकि फ्रांस के राष्ट्रपति ने मुझसे साफ कहा कि अगर सरकार चाहे तो दाम सार्वजनिक कर सकती है। ऐसा कोई सीक्रेट नहीं है। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि वे प्रधानमंत्री नहीं बल्कि चौकीदारी करेंगे। यहां तो चौकीदार ही चोरी में शामिल है। अभी राफेल पर बहुत से खुलासे होंगे। बैठक से निकलकर राहुल सीधे फुरसतगंज एयरपोर्ट पहुंचे जहां से वे दिल्ली के लिए विमान से रवाना हो गए।

Leave a Comment