रेलवे के जीएम को मिलेगा हाई रैंक वेतन

नयी दिल्ली। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे महाप्रबंधकों के लिए उच्चतर रैंक और वेतमान का प्रस्ताव करते हुए उन्हें केंद्र सरकार में सचिवों और राज्यों के मुख्य सचिवों के समतुल्य बनाया है।
रेल मंत्रालय के एक सूत्र ने यह जानकारी दी। पिछले तीन साल में यह दूसरा मौका है, जब रेल मंत्री ने क्षेत्रीय महाप्रबंधकों (जोनल जीएम) के लिए ऐसा प्रस्ताव किया है। आखिरी बार तत्कालीन रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने 2015 में वेतन आयोग को लिखे एक पत्र में ऐसा ही सुझाव दिया था।सूत्रों ने बताया कि रेलवे में व्यापक बदलाव के तहत गोयल ने एक प्रस्ताव तैयार किया है। उन्होंने इसमें कई सारे प्रशासनिक बदलावों का सुझाव दिया है। इनमें से एक के तहत रेलवे बोर्ड में एक पद सृजित किया जाना है जो विशेष रूप से रेलवे के सुरक्षा मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करेगा। साथ ही, क्षेत्रीय महाप्रबंधकों के पद के रैंक को बढ़ाया जाएगा। गोयल ने प्रस्ताव किया है कि जीएम अब राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक रैंक के होंगे। फिलहाल वे पदेन विशेष सचिव रैंक के अधिकारी होते हैं। गौरतलब है कि रेलवे के 16 जोन हैं और इनमें से प्रत्येक जोन में एक जीएम होते हैं। सूत्र ने बताया कि यह प्रस्ताव फिलहाल अंतर मंत्रालयी परामर्श के लिए तैयार है और इसके पूरा हो जाने पर उसे मंजूरी के लिए कैबिनेट के पास भेजा जाएगा।

Leave a Comment