पीरियड्स के दिनों में विशेष प्रकार के फूड्स

हेल्थ डेस्क। मासिक धर्म के दौरान, महिलाओं के शरीर में बहुत सारे परिवर्तन होते हैं जिसकी वजह से नमें कई मानसिक और शारीरिक बदलाव को स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है।पीरियड्स के दिनों में पेट के निचले हिस्से में दर्द, कमर में दर्द और स्तनों में तनाव हो जाता है। अगर आप मासिक धर्म के दौरान इन सभी दिक्कतों को कम करना चाहती हैं तो आपको कुछ विशेष प्रकार के फूड्स का सेवन करना चाहिए। ये फूड्स निम्न हैं:1. सेब – सेब में ऐसे कई गुण होते हैं तो…

Read More

सेक्सवर्धक है शतावरी: शारीरिक बीमारियों के लिए राम बाण

  हेल्थ डेस्क। पेड़-पौधों में भी सेक्स बढ़ाने वाली खूबियां होती हैं। शतावरी का पौधा उत्तर भारत में अधिक पाया जाता है। इसकी जड़ औषधि की तरह इत्तेमाल की जाती है। इसके इस्तेमाल से शरीर में बल और वीर्य बढ़ाता है। यूं तो शतावरी स्त्री व पुरुष दोनों ही के लिए उपयोगी और लाभप्रद है लेकिन स्त्रियों के लिए विशेष रूप से गुणकारी व उपयोगी होती है।शतावरी एक ऐसी औषधि है जिसे कई रोगों के इलाज में उपयोग किया जाता है, खासतौर पर सेक्स शक्ति को बढ़ाने में इसका विशेष…

Read More

सेक्स में कम हो रही है अमरीकियों की दिलचस्पी

  हेल्थ डेस्क। अमेरिका के लोगों की सेक्स में दिलचस्पी घट गई है। जर्नल आर्काइव्ज़ ऑफ सेक्शुअल बिहेवियर में पब्लिश हुई एक नई स्टडी में इस बारे में बताया गया है। इस स्टडी के मुताबिक एक अमेरिकी अडल्ट 1990 में जितनी बार सेक्स करता था उसकी तुलना में साल 2014 में अमेरिकियों द्वारा सेक्स करने में नौ गुणा कमी आयी है। 1990 की शुरुआत से साल 2000 के बीच अमेरिकन्स एक साल में 60 से 65 बार सेक्स करते थे। लेकिन 2002 के बाद सेक्स में अमेरिकियों की दिलचस्पी कम…

Read More

राजाओं की तरह लेना है अगर मजा तो आजमाइये ये नुस्खे

  हेल्थ डेस्क। राजा महाराजा ताकत और फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए कुछ खास जड़ी बूटियों का प्रयोग करते थे जिससे कि वो सालो साल जवान और स्टेमिना से भरपूर रहते थे। पुराने राजा महाराजाओं के यहां आयुर्वेदिक वाजीकरण नुस्खे बनाने वाले विशेष वैघ और हकीम रहा करते थे जो आयुर्वेदिक ग्रंथों के आधार पर जड़ी बूटियों रसायनों और धातुओं ताकत वाली दवाएं तैयार करते थे। हांलाकि इन राजाओं के नुस्खों में कुछ ऐसी मंहगे आईटम जैसे सोना चांदी मोती थी जो आसानी से मिल सकती थी। इरेक्टाइल डिस्फंक्शन स्पर्म की…

Read More

स्वाइन फ्लू से डरा उप्र, 75 जिलों में बनाये आईसोलेशन वार्ड

लखनऊ 31 जुलाई। उप्र में स्वाईन फ्लू की रोकथाम के लिए सभी जनपदों में जिला स्तरीय रैपिड रिस्पान्स टीम गठित की गई है। इस रैपिड रिस्पान्स टीम में एक जन स्वास्थ्य विशेषज्ञ, एक फिजिशियन, एक एपीडेमियोलाॅजिस्ट तथा एक पैथोलाजिस्ट/लैब टेक्नीशियन शामिल हैं। प्रदेश के सभी जिला चिकित्सालयों में 10 शैय्या युक्त आइसोलेशन वार्ड को स्थापित किये जा चुके  है। राज्य सर्विलाॅस इकाई तथा जिला सर्विलाॅस इकाईयों द्वारा प्रदेश में स्वाईन फ्लू की स्थिति पर सतत् निगरानी रखी जा रही है। इसके साथ ही एन्फ्लूएन्जा ए (एच1एन1) के किसी भी आकस्मिकता से…

Read More