श्रीरामलला मंदिर: पौराणिक काल के भी होंगे दर्शन

अमृतांशु मिश्र , अयोध्या। 2020 में पूरे साल श्रीरामलला जन्मस्थान मंदिर निर्माण की गतिविधियों से भरपूर रहने वाला है। 9 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट के आदेश से अयोध्या में बनने वाले श्रीराम जन्मभूमि मंदिर न सिर्फ नये जमाने का होगा बल्कि भूमि के नीचे मौजूद पौराणिक अवशेषों को भी इस मंदिर का हिस्सा बनाया जाएगा। श्रद्धालुओं को आधुनिक मंदिर के साथ विक्रमादित्य काल तक के मंदिर के अवशेषों के दर्शन होगें। यह हिस्सा मंदिर से जुड़ी ‘हेरिटेज प्रापर्टी’ होगा। मूल मंदिर का ‘फ्लोर’ नये मंदिर का धरोहर होगा। मंदिर निर्माण…

Read More