डिमोशन से नाराज हैं कांग्रेस नेता गुलाम नबी ने पद से किया इंकार

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में संगठन को मजबूत करने की कांग्रेस की कोशिशों को झटका लगा है। पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए प्रदेश चुनाव प्रचार समिति का अध्यक्ष पद संभालने से इनकार कर दिया है। पर इसकी कई और भी वजह हैं। हालांकि, पार्टी का कहना है कि आजाद को मना लिया जाएगा। आजाद की नाराजगी की अहम वजह उनकी राय लिए बगैर संगठन का पुनर्गठन है। उनके समर्थक पार्टी के इस कदम को आजाद के सियासी प्रभाव को कम करने की कोशिश के तौर पर देख रहे हैं। पार्टी ने विकार रसूल वानी को प्रदेश अध्यक्ष और रमन भल्ला को कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है। ऐसा पहली बार हुआ है, जब दोनों जम्मू से हैं। गुलाम नबी आजाद का ताल्लुक भी जम्मू से है। ऐसे में उनके समर्थकों का कहना है कि पार्टी ने जानबूझकर जम्मू के नेताओं को तरजीह दी, ताकि आजाद का प्रभाव कम हो। हालांकि, विकार रसूल आजाद के भरोसेमंद माने जाते हैं। इसके साथ आजाद को लगता है कि प्रदेश प्रचार समिति के अध्यक्ष का पद उनके कद के मुकाबले बहुत छोटा है।