विश्व मच्छर दिवस: गुडनाइट ने महाराष्ट्र में किया जागरूकता कार्यक्रम

डेस्क। विश्व मच्छर दिवस (20 अगस्त) के मद्देनजर, गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (जीसीपीएल) के भारत के प्रमुख मॉस्किटो रिपेलेंट ब्रांड,गुडनाइट ने बच्चों के स्वास्थ्य और बीमारी पैदा करने वाले मच्छरों से बच्चे की सेहत पडऩे वाले असर के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए एक सामाजिक कार्यक्रम शुरू किया। यह जागरूकता पहल कुल आठ भारतीय राज्यों – पश्चिम बंगाल, झारखंड, उड़ीसा, उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, गुजरात में चलाई जाएगी और वर्तमान में यह महाराष्ट्र में घर-घर जाकर बातचीत के माध्यम से की जा रही है। महाराष्ट्र में 2021 में वेक्टर जनित बीमारियों के मामले तेजी से बढ़े। नेशनल वेक्टर बॉर्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम (एनवीबीडीसीपी) के अनुसार, राज्य में मलेरिया के 19303 और डेंगू के 12720 मामले दर्ज किए गए। मामलों में इस तेजी के कारण राज्य भर में सतर्कता बरती गई है ताकि 2022 में वृद्धि को टाला जा सके। यह जागरूकता कार्यक्रम गुडनाइट के ‘नींदों को नजऱ ना लगे’ अभियान के तहत चलाया जा रहा है। यह पहल माता-पिता को इस बात को लेकर जागरूक करने के लिए है कि निर्बाध नींद का बच्चे के समग्र स्वास्थ्य एवं विकास पर क्या असर होता है। इस पहल के माध्यम से, गुडनाइट का उद्देश्य भारत में 18 लाख से अधिक लोगों तक पहुंचना है। इस आउटरीच पहल पर टिप्पणी करते हुए, सोमाश्री बोस अवस्थी, चीफ मार्केटिंग ऑफिसर, गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (जीसीपीएल)ने कहा, “गुडनाइट मच्छरों के खिलाफ सर्वोत्तम सुरक्षा प्रदान करने के साथ परिवारों को सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस पहल के साथ, हम बच्चे की नींद और इस प्रकार उनके विकास पर मच्छरों के हानिकारक प्रभावों के बारे में जागरूकता बढ़ाने की उम्मीद करते हैं। जमीनी स्तर पर हमारे द्वारा चलाए जा रहे आउटरीच के दौरान, हमने महसूस किया कि ज्यादातर लोग बच्चे के स्वास्थ्य पर एक भी मच्छर के पड़ सकने वाले नकारात्मक परिणामों से अनजान हैं, और वो अक्सर जानकारी की कमी के कारण गुमराह होकर रिपेलेंट्स जैसे अप्रभावकारी समाधानों का उपयोग कर रहे थे। जागरूकता कार्यक्रम के माध्यम से, हम न केवल लोगों को संवेदनशील बनाने की उम्मीद करते हैं, बल्कि बच्चों के समग्र विकास का समर्थन करने के लिए उपयुक्त जानकारी के साथ उन्हें सशक्त बनाने की अपेक्षा रखते हैं।”