बंद हो गयी नेताजी की मौत से जुड़ी फाइल

नई दिल्ली। एक महत्वपूर्ण फाइल अगले 100 वर्षों के लिए बंद हो गई है, जिससे नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मौत के रहस्यों से पर्दा उठ सकता था। दरअसल, पैरिस के एक जाने-माने इतिहासकार जे. बी. पी. मोर ने फ्रांस के सैन्य अधिकारियों की एक गुप्त फाइल देखने कीअनुमति मांगी थी, लेकिन फ्रांस के राष्ट्रीय अभिलेखाकार प्रशासन ने इससे इनकार कर दिया। इस फाइल के बारे में कहा जा रहा था कि उसमें नेताजी की मौत से जुड़े कई राज दफन हैं। मोर ने कहा कि जवाब मिला है कि फाइल 100 वर्षों के लिए बंद है।
उन्होंने कहा, वर्षों की रिसर्च के बाद, मैं इस बात की पुष्टि कर सकता हूं कि बोस की मौत साइगॉन में हुई। फ्रेंच सीक्रेट सर्विस के रेकॉड्र्स के आधार पर कहा जा सकता है कि शायद उनकी मौत वियतनाम के बोट कैटिनेट जेल में हुई होगी। मोर पैरिस के एक कॉलेज में पढ़ाते हैं। उन्होंने कहा, फ्रेंच अधिकारियों के पत्र से मैं चकित रह गया कि उन्होंने साइगॉन में ढ्ढहृ्र और बोस से जुड़ी जानकारी वाली अहम फाइल देखने की अनुमति देने से इनकार कर दिया। इससे मेरी धारणा और भी मजबूत हुई है कि सितंबर 1945 में साइगॉन में ही बोस ने अंतिम सांस ली, यही वजह है कि इस फाइल को गुप्त रखा जा रहा है।

Leave a Comment