यूपी में दलित उत्पीडऩ पर भडक़े कठेरिया

लखनऊ। लखनऊ.दो दिनों के दौरे पर यूपी आए एससी कमीशन के चेयरमैन राम शंकर कठेरिया ने योगी सरकार पर हमला करते हुए कहा- अनुसूचित जाति (दलित) के विकास के लिए जारी 4732 करोड़ रुपया खर्च नहीं किया। दलित उत्पीडऩ के मामले में पुलिस अधिकारी चार्जशीट नहीं लगा रहे हैं। ऐसे अधिकारियो पर कार्रवाई कराई जाएगी। लखनऊ के योजना भवन में पत्रकारों से बातचीत में कठेरिया ने कहा कि दलित उत्पीडऩ के मामलों में भी क्रास एफआइआर हो रही है। इससे पीडि़त पक्ष सरेन्डर हो जाता है। मैंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, गृह सचिव व पुलिस के अधिकारियों से इस मुद्दे पर बात की है। हमने उनसे साफ कहा है कि बहुत से मामलों में चार्जशीट नहीं लगाई जा रही है। पूर्व की सरकार पीडि़तों को मुआवजा देने में शिथिल थी, भाजपा सरकार में काम हो रहा है। अनुसूचित जाति के डेवलपमेंट के आवंटित बजट का पैसा खर्च नहीं हो रहा है, यह स्थिति ठीक नहीं है। कठेरिया ने कहा पिछले साल अनुसूचित जाति के लिए निर्धारित बजट का 4732 करोड़ रुपया खर्च नहीं किया गया। दलित महिलाओं के साथ रेप और हत्या के मामले में चार्जशीट नहीं लगाने वाले अधिकारियों की पहचान कर उन पर कार्रवाई की जाएगी। प्रदेश सरकार के अधिकारियों को ऐसे अधिकारियों की पहचान कर कार्रवाई के लिए कहा गया है। पॉक्सो के लिए अलग से कोई प्रावधान प्रदेश में नहीं है। कठेरिया ने कहा कि हमारी समीक्षा व आयोग में पहुंची शिकायतों से साफ है कि सीवर की सफाई करने के दौरान जिन मजदूरों की मौत हुई है, उन्हें मुआवजा नहीं मिल रहा है। इसमें बदलाव लाया जाएगा।

Leave a Comment