बिकिनी में हॉट मलाइका: लोगों के उड़े होश

डेस्क। बॉलीवुड एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा ब्वॉयफ्रेंड अर्जुन कपूर संग गोवा में वेकेशन एंजॉय कर रही हैं। हाल ही में मलाइका अरोड़ा ने इंस्टाग्राम पर खुद की स्विमिंग पूल में नहाते हुए बिकिनी पहन फोटो शेयर की है। सूरज की रोशनी उनके चेहरे पर पड़ रही है, जिस मोमेंट को वह एंजॉय कर रही हैं। फैन्स कयास लगा रहे हैं कि मलाइका की यह फोटो अर्जुन कपूर ने क्लिक की है।अर्जुन कपूर संग रोमांटिक फोटो शेयर करने के बाद मलाइका खुद की बिकिनी फोटो से इंटरनेट का तापमान बढ़ा रही हैं।…

Read More

सत्ता सिर्फ पक्ष से नहीं, विपक्ष से भी चलता है

डॉ. अजय कुमार मिश्रा। किसी भी देश का शीर्ष नेतृत्व इस बात से इंकार नहीं कर सकता है की सत्ता सिर्फ पक्ष से नहीं, विपक्ष से भी चलता है 7 विगत कुछ वर्षो में जिस तेजी से विपक्ष राज्य और केंद्र में कमजोर हुआ है, कही न कही, जनता का हित भी उतना ही प्रभावित हुआ है और हम ऐसे राह पर बढ़ते चले जा रहे है जहाँ शायद विरोध के लिए कोई जगह नहीं है 7 कई बातों के मूल में जाकर बहस करने से सभी बचतें है 7…

Read More

बाल का धंधा नहीं है गंदा: हो रहे हैं मालामाल

डेस्क। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि जिन बालों को कटने के बाद हम छूना भी पसंद नहीं करते, उनकी कीमत चांदी से भी ज्यादा है। जी हां। इन बालों की नीलामी होती है। कीमत भी ऐसी वैसी नहीं बल्कि बालों की लंबाई के हिसाब से। 20 से 28 इंच के बाल 20 हजार से 40 हजार रुपये किलो बिकते हैं तो 50 इंच के बाल 70 हजार रुपये किलो तक पहुंच जाते हैं। सबसे सस्ते बाल 10 हजार रुपये किलो होते है। और यही फेंके हुए बाल दो युवा उद्यमियों…

Read More

यूनिसेफ की रिपोर्ट: नव वर्ष पर पैदा हुए 60 हजार बच्चे

डेस्क। नए साल के दिन भारत में 60 हजार बच्चे पैदा हुए। यूनिसेफ ने ये जानकारी दी है। पूरी दुनिया में नए साल पर पैदा होने वाले बच्चों का ये सबसे बड़ा आंकड़ा है। हालांकि ये संख्या 2020 के पहले दिए जन्म लेने वाले बच्चों की संख्या से 7,390 कम है। इसके अलावा चीन में इस साल 35,615 बच्चों ने जन्म लिया, जिसका नंबर बच्चों के जन्म के मामले में दूसरे नंबर पर आता है। यूनिसेफ का अनुमान था कि साल के पहले दिन दुनिया भर में 371,504 बच्चे पैदा…

Read More

नीलांबर कोलकाता बनाएगी रेणु की कहानी संवदिया पर फिल्म

कोलकाता। हिंदी के सुप्रसिद्ध कथाकार फणीश्वरनाथ रेणु का जन्मशताब्दी वर्ष पूरे देश में मनाया जा रहा है। रेणु और उनके लेखन को केंद्र में रखकर देशभर की साहित्यिक-सांस्कृतिक संस्थाओं द्वारा अनेक कार्यक्रमों का आयोजन हो रहा है। देश की प्रतिष्ठित साहित्यिक-सांस्कृतिक संस्था नीलांबर के वार्षिकोत्सव ‘लिटरेरिया’ का थीम था— ‘साहित्य का अंचल’ और इसके केंद्र में रहे रेणु जी और उनका लेखन। इस अवसर पर संस्था ने रेणु जी की बहुचर्चित कहानी संवदिया पर इसी नाम से फि़ल्म निर्माण भी शुरू कर दिया है। इससे पहले रेणु की कहानी ‘तीसरी…

Read More