महोबा का सूर्य मंदिर: स्थापत्य कला का नायाब नमूना

महोबा। दिल्ली में जिस कुतुबुद्दीन ऐबक ने नायाब कुतुबमीनार बनवाई, उसी कुतुबुद्दीन ऐबक ने महोबा का अद्भुत सूर्य मंदिर नष्ट कर दिया। दिल्ली का हीरो महोबा का खलनायक बन गया। जिस तरह उड़ीसा का कोणार्क सूर्य मंदिर अपनी अनूठी स्थापत्य कला के लिए दुनिया भर में मशहूर है, महोबा का सूर्य मंदिर भी मशहूर था। चंदेल राजा राहिल देव वर्मन ने सन 890 ईस्वी में खजुराहो की तरह ही पंचायतन शैली में ग्रेनाइट पत्थरों से इस सूर्य मंदिर का निर्माण शुरू करवाया था जो सन् 915 तक चला। सूर्य भगवान…

Read More

दशमी में करें शमी की पूजा मिलेगा लाभ

  फीचर डेस्क। विजय दशमी इस बार यह 30 सितंबर को मनाई जाएगी। दशमी तिथि 29 सितंबर की रात्रि 9.22 बजे से लग रही है, जो 30 सितंबर की रात्रि 11.01 बजे तक रहेगी। ज्योतिषाचार्य पं. संजय पांडे के अनुसार महानवमी व्रत 29 सितंबर को होगा। व्रत का पारण दशमी पर शुक्रवार की रात 9.22 बजे के बाद किया जा सकता है। जबकि उदया मानने वाले 30 सितंबर की सुबह पारण करेंगे। नवरात्र होम आदि शुक्रवार रात 9.22 से पूर्व नवमी में ही कर लेना चाहिए। नवमी में ही चंडा…

Read More

दुनिया के 100 टॉप पर्यटन स्थलों में 6 शहर भारत के

  कोलकाता। यात्रा के लिहाज से पंसदीदा शहरों में चेन्नई, कोलकाता समेत भारत के 6 शहरों को दुनिया के शीर्ष 100 यात्रा स्थलों की सूची में जगह मिली है। मास्टरकार्ड ग्लोबल डेस्टिनेशन सिटिज इंडेक्स 2017 के मुताबिक सूची में चेन्नई, कोलकाता के अलावा मुंबई, दिल्ली, पुणे और बेंगलुरु को इस सूची में स्थान मिला है। भारत के यात्रा स्थलों में चेन्नई पहले स्थान पर है। इसके अलावा चेन्नई को एशिया प्रशांत के शीर्ष 10 स्थलों में भी शामिल किया गया है। कोलकाता के एक ट्रेवल हाउस के अधिकारी ने कहा…

Read More

मां विंध्यवासिनी: प्रतिदिन दर्शन करते हैं 3 लाख लोग

मिर्जापुर से अमृतांशु मिश्र। आदि शक्ति मां विंध्यवासिनी मंदिर की सीढिय़ों पर पैर रखते ही जाति तिरोहित हो जाती है। सभी द्विज हो जाते है। इस बार दस दिन का नवरात्रि बेहद शुभ है। मां के दर्शन के लिए मंदिर के बाहर मीलों लंबी कतार लग गई है। जिसमें बेहद अनुशासित अमीर-गरीब, आदिवासी, वनवासी, देशी-विदेशी सभी एक साथ खड़े है। हाथों में मां के श्रृंगार का सामान और चढ़ावा, माथे पर पटका और मां विंध्यवासिनी का जयकारा, बेहद भक्तिमय माहौल है। हर दिन 3 से 5 लाख लोग दर्शनपूजन कर…

Read More

चंडिका देवी मंदिर: जहां चंड राक्षस का देवी ने किया संहार

फीचर डेस्क। ये हैं महोबा वासियों की आराध्य देवी बड़ी चंडिका। शायद ही ऐसा कोई हिन्दू हो जो नवरात्रि में इनके दरबार में जाकर अपना शीश न नवाता हो पर ये बहुत कम लोग जानते हैं कि गोरखगिरी की एक विशाल चट्टान पर उकरी 18 भुजाओं वाली बड़ी चंडिका देवी की इस 12 फुट ऊंची मूर्ति की पहचान सबसे पहले गहरवार नरेशों के समय 7वीं शताब्दी में हुई थी। ये तो पता नहीं चल सका कि सबसे पहले किसने देवी के इस अदभुत रूप को देखा जिसमें वे अपने पैरों…

Read More