पूर्व पीएम राजीव गांधी की 78वीं जयंती पर नौजवानों में पैठ बनाएगी कांग्रेस

लखनऊ। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न राजीव गांधी की जयंती पर कांग्रेस प्रदेश में प्रत्येक जनपद और ब्लाक/गांवों में कार्यक्रम कर जनता के बीच अपनी पैठ, खासतौर से नौजवानों के बीच, राजीव गांधी द्वारा नौजवानों के लिए किए गए ऐतिहासिक कार्यों को याद करा पैठ बनायेगी। आगामी 20 अगस्त को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न राजीव गांधी की जयंती पर होने वाले कार्यक्रमों की जानकारी पूर्व मंत्री एवं मीडिया विभाग के चेयरमैन नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने लखनऊ स्थित प्रदेश कांग्रेस कार्यालय ‘‘नेहरु भवन’’ पर प्रेस कांफ्रेंस कर बताया। वरिष्ठ कांग्रेस नेता पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री और भारत के युगदृष्टा राजीव गांधी को प्रधानमंत्री के पद पर बहुत कम समय काम करने का अवसर मिला लेकिन कम समय में उनके द्वारा जो ऐतिहासिक कार्य किए गए वह आज भी देश के विकास की प्रेरणा हैं। नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि कम समय में राजीव जी द्वारा स्थापित किए गए प्रतिमान आज भी देश को मजबूत करने में अपनी भूमिका निभा रहे हैं , वह ऐसे युगद्रष्टा थे जिन्होंने देश की एकता अखंडता के लिए अपनी कुर्बानी दे दी, देश में शांति स्थापित करने में अपनी सरकारें कुर्बान कर दीं जो आज भी भारत के प्रत्येक जन – जन के लिए प्रेरणा है । नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि ऐसे महान नेता की जयंती पर कांग्रेस उनके कार्यों को जन – जन तक लेकर जायेगी एवं ब्लाक/ग्राम सभा व जनपद स्तर पर झांकी, कवि सम्मेलन और अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम कर रही है, इसके माध्यम से हम कांग्रेस और हमारे नेताओं के योगदान और बलिदान को लोगों को बताने का काम करेंगे। प्रेस कांफ्रेंस में नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने राजीव गांधी के ऐतिहासिक कार्यों को बताते हुये कहा कि ग्रामीण होनहार नौजवानों को दून स्कूल जैसी शिक्षा मुफ्त में मिले इसके लिए पूरे देश में 600 से ज्यादा जवाहर नवोदय विद्यालय की स्थापना की,जहां से पढ़े नौजवान आज विश्व में भारत का नाम बुलंद कर रहे हैं, आज की सरकार में नौजवानों को उपेक्षित किया जा रहा है लेकिन राजीव गांधी जी ने लोकतंत्र में नौजवानों की भागीदारी अधिक से अधिक हो इसके लिये मतदान की उम्र 21 से घटाकर 18 वर्ष करने का ऐतिहासिक कानून बनाया। उन्होंने कहा कि आज जो मोबाइल, कंप्यूटर हमारे पास हैं उनका श्रेय भी दूरसंचार क्रांति के माध्यम से घर – घर पहुंचाने का श्रेय दूरदर्शी राजीव गांधी को जाता है, दल-बदल कानून लाकर देश के लोकतंत्र में जनादेश को मजबूत किया और राजनैतिक भ्रष्टाचार को रोकने की पहल की, देश में गरीब दलित, आदिवासी को कोई प्रताडि़त न कर पाए उनके हितों और अधिकारों की रक्षा के लिये अनुसूचित जाति-जनजाति अधिनियम लाकर उनके भविष्य को सुरक्षित किया ।संविधान में 73-74 वें संशोधन से पंचायती राज अधिनियम से गांवों के लोकतंत्र को सशक्त बनाया और पंचायतों को न्यायिक अधिकार के साथ 50 प्रतिशत आरक्षण देकर महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित की।