संसद न चलने से आखिर किसको है नुकसान?

प्रियंका सौरभ। जब संसद चलती है तो बात समाज की होती है राष्ट्र की होती है। विरोध या गतिरोध के कारण जब संसद नहीं चलती है तो नुकसान किसका होता है। सदन न चलने की बड़ी कीमत देश चुकाता है, उसेक नागरिक चुकाते है। आज मुद्दा संसद की कार्यवाही और आर्थिक नुकसान का है। मुद्दा सदन की गरिमा और उपयोगिता का है। संसद के दो सप्ताह के मानसून सत्र को बार-बार बाधित होने के कारण स्थगित करना पड़ा। देश का खर्चा व्यर्थ जा रहा है, चर्चा का स्तर घटिया होने…

Read More

अखंड भारत की राह में, सिंध के बिना हिंद अधूरा

प्रहलाद सबनानी। जैसा कि सर्वविदित है कि प्राचीन भारत का इतिहास बहुत वैभवशाली रहा है। भारत माता को सही मायने में “सोने की चिडिय़ा” कहा जाता था एवं इस संदर्भ में भारत की ख्याति पूरे विश्व में फैली हुई थी। इसके चलते भारत माता को लूटने और इसकी धरा पर कब्जा करने के उद्देश्य से पश्चिम के रेगिस्तानी इलाकों से आने वाले मजहबी हमलावरों का वार सबसे पहले सिन्ध की वीरभूमि को ही झेलना पड़ता था। अविभाजित भारत में सिंध प्रांत को अपनी भौगोलिक स्थिति के चलते किसी जमाने में…

Read More

लगातार मजबूत होते भारतीय बैंक

प्रहलाद सबनानी। किसी भी देश की अर्थव्यवस्था को तेज गति से चलायमान रखने में बैंकों की भूमिका महत्वपूर्ण रहती है। इसलिए देश में बैंकों की स्थिति मजबूत होना अर्थव्यवस्था के लिए आवश्यक है। बैकों की मजबूत स्थिति का पता लगाने के लिए अन्य निष्पादन मानदंडो (जमाराशि एवं ऋणराशि में वृद्धि दर) के अतिरिक्त मुख्य रूप से पूंजी पर्याप्तता अनुपात एवं गैरनिष्पादनकारी आस्तियों के प्रतिशत को भी आंका जाता है। यदि ये दोनों अनुपात संतोषजनक स्थिति में पाए जाते हैं तो बैंकों की स्थिति को सामान्यत: अच्छा माना जाता है। भारतीय…

Read More

गुरु समान परम पवित्र भगवा ध्वज

प्रहलाद सबनानी। भारतीय सनातन हिंदू संस्कृति में आस्था रखने वाले व्यक्तियों के लिए उनके जीवन में गुरु का स्थान सबसे ऊंचा माना गया है। परम पूज्य गुरुदेव जीवन में आने वाले विभिन्न संकटों से न केवल उबारते हैं बल्कि इस जीवन को जीने की कला भी सिखाते हैं ताकि इस जीवन को सहज रूप से जिया जा सके। भारत के मठ, मंदिरों एवं गुरुद्वारों में इसलिए प्रत्येक वर्ष व्यास पूर्णिमा के दिन गुरु पूजन का विशेष पर्व मनाया जाता है एवं इस शुभ दिन पर गुरुओं की पूजा अर्चना की…

Read More

महिंद्रा ने उतारी बेजोड़ नई स्कॉर्पियो-एन

अनिल बेदाग़,मुंबई। भारत में एसयूवी सेगमेंट में अग्रणी, महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड ने आज अपनी बहुप्रतीक्षित एसयूवी – ऑल-न्यू ‘स्कॉर्पियो-एन’ लॉन्च की। इसकी कीमत 11.99 लाख रुपये है। स्कॉर्पियो ब्रांड की ‘गेम-चेंजर’ की विरासत को आगे बढ़ाने के लिए तैयार, नई स्कॉर्पियो-एन को इसकी श्रेणी-अग्रणी विशेषताओं, खूबियों और क्षमताओं के साथ एसयूवी सेगमेंट की नई परिभाषा गढऩे के लिए डिज़ाइन, इंजीनियर और तैयार किया गया है। ऑल-न्यू स्कॉर्पियो-एन पूरी तरह से नई है, जिसमें मौजूदा स्कॉर्पियो का कोई कैरीओवर घटक नहीं है। यह ऑल-न्यू स्कॉर्पियो-एन को सभी महत्वपूर्ण मापदंडों पर…

Read More